शाश्वत सत्य सनातन को आत्मसात कर सप्रमाण प्रफुल्लित दृढसंकल्पित रहें! शुद्धता शांति एवं स्थिरता को अपना मित्र बनायें!

सनातन शब्द ही अपने आप में सत्य होने की परिभाषा उजागर कर देता है, फिर भी आज हम सभी ने अपने आप को आधुनिकता के अधीन कर रखा है…..

वेद भास्कर के द्वारा हम अपने पाठकों और अनुगामियों को नित्य वैदिक व पौराणिक नीतियों एवं सनातन सिद्धांतों से अद्यतित रखने का प्रयास करते हैं!

यह बात सिद्ध करने की कोई आवश्यकता नहीं की वैदिक ज्ञान ही सर्वश्रेष्ठ ज्ञान है! आधुनिक युग में हर व्यक्ति चाहे वृद्ध हो या बच्चा धर्म से दूर होता जा रहा है, जिसका मूल कारण है वैदिक ज्ञान की कमी! वेद भास्कर के लेखों में आपको एक नयी लेखन शैली से वैदिक ज्ञान व नित्य कर्मों को जानने में मदद मिलेगी! आपसे सविनय अनुरोध है कि अपने बच्चों को सनातन संस्कृति का ज्ञान अवश्य दें!

rashi-chakra

आकाश मण्डल में स्थित ग्रहों व नक्षत्रों को जिस प्रकार हम जान समझ रहे हैं, वह पहले भी था और श्रृष्टि के अंत तक ज्यों का त्यों निरंतर चलता रहेगा! आज सिर्फ सनातन युग के ऋषियों द्वारा की गयी खोज को नए कलेवर के साथ एस्ट्रो साइंस के नाम से आपके सामने परोसा जा रहा है! वेद भास्कर आपको वैदिक ज्योतिष से जुड़े हर एक रहस्य से अवगत कराने के लिए दृढ़ संकल्पित है!

vastu-yantra

सनातन काल से ही वास्तु हमारे जीवन का एक अंग रहा है! पहले वास्तु और वास्तु मण्डल का ज्ञान लगभग सभी को होता था और सभी अपने घर व मंदिर का निर्माण वैदिक यन्त्र रुपी वास्तु मण्डल की शैली से ही कराते थे! आज के निर्माण सिर्फ सर छुपाने तक ही सीमित रह गए हैं जिसने वास्तु टिप्स के व्यापार को नया जन्म दिया है! वेद भास्कर के लेखों में हम वास्तु से जुड़े तथ्यों से आपको अवगत कराते हैं!

ऐसे सनातन सत्य के रथ पर सर्वथा सवार रहिये जिसकी कभी हार नहीं होती!

अपने आप को हिन्दू कहने से कोई सनातनी नहीं हो जाता! धर्म कोई भी हो सब सनातन हैं! मूल सनातन सत्य वो है जो हर कोई नहीं जान सकता, उसको जानने के लिए सिर्फ सनातन धर्म को जानने का प्रयास कीजिये, शाश्वत सत्य स्वयं ही आपको जान लेगा!

ved-bhaskar-main-logo

हमारी अन्य सेवायें...

  • सनातन धर्म व संस्कृति का प्रचार-प्रसार, विशेषतयः बच्चों व युवाओं में!
  • वैदिक भारतीय ज्योतिष से आपकी किसी भी समस्या का समाधान!
  • वास्तु से जुड़े जटिल-से-जटिल समस्या का श्रीयन्त्र पद्धति से समाधान!
  • समस्त प्रकार के मन्त्र-जप व अनुष्ठानों को वैदिक रीति से सम्पन्न कराना!
  • वैदिक कर्मकाण्ड की सही रीति से हमसे जुड़े प्रत्येक सज्जन को जोड़ना!