जय माँ भवानी

शरणम् जीवनम् भोक्ता नानाचेष्टो ह्यचञ्चल:!
स्वस्तिमान् स्वस्तिदो दु:खशान्तन:पवनात्मज:!!

राम अवध में काशी में शिव, कान्हा वृन्दावन में!
दया करो प्रभु देखूं इनको, हर घर के आंगन में!!

राधा मोहन शरणम्!
सत्यं, शिवम्, सुंदरम!

आप सभी पुण्य भोगियों को योगिनी एकादशी की शुभकामनाएं!

विशेष

योगिनी एकादशी तिथि: 16जून2020 5:41 am से 17जून2020 7:50 am तक! जब भी एकादशी लगातार दो दिनों की हो तब साधारण गृहस्थ को पहले दिन का व्रत करना चाहिए (जिसमें दिन के तीन पहर सम्मिलित होना आवश्यक है)! दूजी एकादशी (दूसरे दिन की एकादशी) को सन्यासियों व मोक्ष प्राप्ति के इच्छुक श्रद्धालुओं को व्रत करना चाहिए तथा, भगवान श्री हरि विष्णु जी का प्रेम स्नेह व सानिध्य पाने के इच्छुक श्रद्धालु को दोनों एकादशी का व्रत करना चाहिए!

शुभ मंगल कामनाओं सहित आज का दिन आप सभी के लिए भगवान की अनन्त कोटि कृपाओं से भरा पूरा हो!

भक्त शिरोमणि श्री हनुमान जी की कृपा आप सभी पर सदैव बनी रहे!

मातारानी आप सभी के सकल मनोरथ पूर्ण करें!

जय माँ भवानी

इस लेख को अपने मित्रों के साथ साझा करें:

Leave a Reply