सच्चिदानंद विचार 21-06-2020

!!जय माँ भवानी!! श्री वराहमिहिर जी द्वारा बृहतसंहिता में लिखा गया है कि- मिथुने प्रवरागमना नृपा नृपमात्रा बलिन: कलाविद:! यमुनातटजा: सबाह्लिका मत्स्या: सुह्यजनै: समन्वित:!! इस श्लोक का अर्थ यह है…

पढ़ना जारी रखें सच्चिदानंद विचार 21-06-2020